कहीं आप अपने बच्चों की बॉडी शेमिंग तो नहीं कर रहे ?
5605
5
101
|   Jul 14, 2017
कहीं आप अपने बच्चों की बॉडी शेमिंग तो नहीं कर रहे ?

हम एक ऐसे समाज में रहते हैं जहाँ इस बात पर बहुत महत्व दिया जाता है कि कोई क्या खाता है और कैसा दिखता है .माना कि हेल्दी होना अच्छी बात है   लेकिन हमें ये भी पता होना चाहिए कि क्या हेल्दी है और क्या अनहेल्दी. एक माता पिता के रूप में ये जानना जरूरी है कि कोई आपके बच्चों के बारे में क्या बोलता है. बच्चे ये नहीं जानते हैं कि वे कैसे दिखते हैं या उनके शरीर की संरचना कैसी है. हालांकि, अगर आप अक्सर उनके शरीर के बारे में एक खास टिप्पणी करें तो वे उसे मन में बिठा लेते हैं . 

 आप भोजन और मात्रा को कितना महत्व देते है

भोजन को अच्छे या बुरे के रूप में बाँटना , एक बच्चे को कंफ्यूज करता है. बच्चे को बर्गर या पिज्जा अच्छा लग सकता है लेकिन अगर उसके पेरेंट्स कहते है कि सलाद अच्छा होता और पिज़्ज़ा बुरा है तो वे कंफ्यूज हो सकते हैं . एक बढते बच्चे के लिए सभी तरह का खाना जरूरी होता है. इसलिए, माता-पिता के रूप में आप अपने बच्चे से अच्छे भोजन और बुरे भोजन की बातचीत से दूर रहें. 

 मोटापे के प्रति आपका नजरिया  

यदि आप किसी मोटे आदमी को देख कर हंसते है या उस पर कमेंट करते है तो यह आपके बच्चे को गलत सन्देश देगा.ऐसा न करें . ऐसा करना आपके बच्चे पर नकारात्मक असर डालेगा. 

 वजन को ले कर आप अपने बच्चे से कैसे बात करते हैं ?

 मोटे होने को ले कर आप कैसी प्रतिक्रिया देते है, इसका असर आपके बच्चे पर भी पडता है यदि आप इसे अपमान कि दृष्टि से देखते हैं तो आपका बच्चा भी मोटापे को वैसे ही देखेगा और  यह आपके बच्चे के लिए ठीक नहीं होगा. 

 क्या जब आपका बच्चा ज्यादा खाता है तो क्या आपको गुस्सा आता है?

अगर वह कोई फिजिकल एक्टिविटी नहीं करता तो क्या आप बच्चे पर गुस्सा होते हैं? आप उस पर चीखते-चिल्लाते है. यदि हां, तो आप गलत रास्ते पर चल रहे हैं. जाने-अनजाने आप अपने बच्चे को शर्मिंदा कर रहे हैं.ऐसा करने से बचें . 

 बच्चों के आत्मविश्वास और आत्मसम्मान को बढ़ाने के लिए आप ये काम कर सकते हैं  -

 अच्छे काम के लिए बच्चे की सराहना करें.

  • एक पॉजिटिव बॉडी इमेज बनाने में अपने बच्चे की मदद करे. दूसरे बच्चों से प्रभावित होने से बचायें. 
  • प्रकृति ने सबको अलग-अलग बनाया है. यह बात बच्चे को समझाएं
  • अपने बच्चे की अच्छी बातों पर फोकस करें .
  • अपने बच्चे को स्वस्थ होने की अवधारणा समझाएं न कि वे कितने मोटे हैं इस बारे में बात करें .

 आपका बच्चा सफल बने, इसके लिए उसका ध्यान उसकी बॉडी इमेज से हटाकर उसका आत्मविश्वास बढ़ाने और वह अपनी क्षमता को पहचाने इस बात पर ध्यान दें .

 हैप्पी पेरेंटिंग !

Read More

This article was posted in the below categories. Follow them to read similar posts.
LEAVE A COMMENT
Enter Your Email Address to Receive our Most Popular Blog of the Day