नाना के घर जाऐंगे,मोटा होकर आएंगे ।।।।
126427
358
6
|   Jul 24, 2017
नाना के घर जाऐंगे,मोटा होकर आएंगे ।।।।

   नाना के घर जाएंगे,    दूध मलाई खाएंगे,

   मोटा होकर आएंगे।

यह पंक्तियां हम सभी ने कई बार सुनी होंगी।

 पहले छुट्टियों का मतलब होता था नाना के घर जाना, पूरा महीना बस वही धमाचौकड़ी मचाना। कैरम,ताश व्यापार और पता नहीं कितने गेम्स हमारा सहारा हुआ करते थे उन गर्मियों में, जब शाम तक हम अपने घर के बाहर कदम भी नहीं रख सकते थे।

देर तक खेलना,कहानियाँ,और जम के तरह-तरह के व्यंजन का आनंद उठाना यही मनोरंजन था।

 नाना-नानी भी अपनी तरफ से कोई कसर नहीं छोड़ते। मामीयाँ जुट जाती थी अपनी ननद और बच्चों की सभी इच्छाएं/फरमाइशें पूरी करने में।

 शायद हम सभी की गर्मियों की छुट्टियां इसी तरह की होती थी ।

पता ही नहीं चलता पलक झपकते ही एक महीना हवा हो जाता। मां और हम सभी बच्चे अपना बोरिया बिस्तर बांध फिर अपने पवेलियन की तरफ चल देते। 

कहानी में ट्विस्ट तब आता है जब अपने घर में कदम रखते ही,दादी का पहला वाक्य होता था- अरे! नाना नानी ने कुछ खिलाया नहीं क्या?कितने कमजोर हो कर आए हो ।बेकार ही गए महीने भर को,यंहा रहते तो छुट्टियों मे सेहत तो बनती।

बस फौड़ दिया इलज़ाम का टोकरा ननीहाल पर ।

माँ ऊपरी हंसी हंसते हुए सफाई देने लग जाती थी।

यह तब की बात है जब हम छोटे थे, मगर यही परिपाटी आज भी चली आ रही है ,आज भी जब बच्चे अपने नाना के घर से आते हैं दादा-दादी पता नहीं क्यों उन्हें कमजोर ही पाते हैं ।

क्यों लोग यह नहीं समझते कि उनके बेटे के बच्चों पर जितना अधिकार और प्यार उनका है उतना ही अधिकार और प्यार उनकी बहू के माता-पिता का भी है।

  साल में एक या दो बार आने वाली बेटी और नाती-नातिन को माता-पिता फूलों की सेज पर बिठा कर रखते हैं। पूरे साल की भरपाई करने की कोशिश करते हैं ,फिर भला बच्चे नाना नानी के घर से कमजोर होकर कैसे आ सकते हैं ?

जिस प्रकार पोते पोती आपका खून हैं, उनका भी हैं!!!

खैर सोच की बात है, और सोच बदलनी होगी।

समाज मे लड़की के माता-पिता पर किसी भी इलज़ाम को फट से मढ़ देने का यह जो रवैया है इसे बदलना होगा।

 अभी बदलाव का बिगुल बजा है,

 अभी सोच बदलनी बाकी है ,

अभी- अभी तो आत्म सम्मान का ध्वज फहराया है,

 अभी सम्मान के लिए लड़ना बाकी है।

Read More

This article was posted in the below categories. Follow them to read similar posts.
LEAVE A COMMENT
Enter Your Email Address to Receive our Most Popular Blog of the Day