रीयलटी शो....सत्य अनुभव
11102
11
248
|   Aug 10, 2017
रीयलटी शो....सत्य अनुभव

आज बहुत तरह के रियलटी शो है। कुछ डांस के,कुछ गानो के, कुछ कुकिंग के। कुछ बच्चों के लिए ,कुछ बडो के लिए तो कुछ जुडवां के लिए।

रियलिटी शो की तिलिस्म दुनिया में जनता भूल जाती है कि इस बाहरी छलावे के भीतर निराशा का संसार है। बच्चों के रियलिटी शो में तो खास रुप से। जैसा मैने आपको अपने कुछ बाल्गस में बताया ही है कि मेरी बेटी डांस करती है । अभी कुछ दिन पहले ही सुपर डाँसर के audition हो रहे थे। हमने कभी अपने बच्चों पर अपने फैसले नही थोपे। पर सही या गलत के चयन में मदद जरूर की है। 

वो audition में जाना चाहती थी। इसलिए हम उसे इंदौर ले कर गये।...... 8 बजे गेट खुलने का टाईम था। इसलिए हम सात बजे पहुँचे। बहुत लंबी लाईन..., कोई भोपाल से.. तो कोई अहमदाबाद से...,तो कोई पास पडोस से...। चुकी age group 4 से 13 साल था। इसलिए छोटे बच्चे भी थे। कुछ बच्चों के चेहरे से तो कुछ बडो के चेहरे से तानाव झलक रहा था।बच्चों में इतना pressure झलक रहा था कि जैसे यदि वो audition में select नही हुए तो बहुत बडा नुकसान हो जायेगा।

फिर मौका मिलने पर पूरा 1 min भी बच्चों को perform नही करने दिया गया।और लगभग 20 सैकड की performance में पूरे समय जज ने बच्चे का डांस देखा भी नही।

Selection से ज्यादा rejection।

उसके बाद कुछ बच्चे उदास हुए ,कुछ रोते भी देखे।हमे अपने बच्चों को भावनात्मक रूप से मजबूत बनाने की आवश्यकता है | ऐसे बच्चे जिनके फैसले कभी भी दूसरो से प्रभावित न हो ,जिनका वक़्त दूसरो से तुलना या प्रतिस्पर्धा में न गुजरे ,जो हमेशा खुद में व्यस्त रहे जीवन को बेहतर बनाने की कोशिश में , मुश्किल वक़्त का सामना हमेशा पूरी दृणता से करते हुए नैतिक रास्ते से सफलता पाये| जिंदगी बहुत छोटी है और जो लोग ये बात समझते है वही वक़्त का सदुपयोग करते है । दूसरो की कामयाबी से ईर्ष्या न कर प्रेरणा ले । 

पत्ता जो टूटे पेड से पेड निष्प्राण नहीं होता

बूँद दो बूँद गर बह जाए फिर भी झरना वीरान नहीं होता गिरना हारना तो हर राह में लगा होता है 

गिरने हारने के डर यदि इंसान कदम न उठाए

 तो इंसान इन्सान नहीं होता 

चोट खाना पल दो पल के लिए गिर भी जाना

मुश्किलें घेर ही लें तो चंद आंसूं भी बहा जाना

पर याद रखना की तुझे गिरके है फिर उठना

 और आंसूं पोछकर फिर मुस्कुराना 

क्यूंकि गर ऐसा न हुआ तो

किसी टूटे पत्ते और गिरी बूँद सा तू रह जाएगा बिना लिखा फ़साना 

Read More

This article was posted in the below categories. Follow them to read similar posts.
LEAVE A COMMENT
Enter Your Email Address to Receive our Most Popular Blog of the Day